संस्थान >> हिमनद केंद्र     
 

हिमनद केंद्र


भारत सरकार ने वा0हि0भूवि0संस्थान में हिमनद अध्ययन केन्द्र की स्थापना हेतु मंजूरी प्रदान की । इस केन्द्र का मुख्य मिशन है, 'हिमालयी हिमानिकी पर समन्वित ‘शोध प्रवर्तन को ब़ावा दिया जाए ताकि समाज के सतत विकास के लिए जलवायु परिवर्तन अनुकूलनशीलता के लिए नई युक्तियाँ खोजी जा सकें ।' इसके अतिरिक्त, यह केन्द्र इस अति विशटीकृत क्षेत्र में क्षमता निर्माण का कार्यभार संभालेगा जिससे अन्ततोगत्वा हिमनदविज्ञान का एक स्वतन्त्र भारतीय संस्थान विकसित होगा ।

हिमालयी हिमनद अध्ययन केन्द्र का उद्धाटन, माननीय विज्ञान और प्रौद्योगिकी एवं भौमविज्ञान मंत्री, श्री पृथ्वीराज चव्हाण के कर कमलों से दिनांक 4 जुलाई, 2009 को सचिव, विज्ञान और प्रौद्योगिकी विभाग, डा0 टी0 रामासामी तथा संयुक्त सचिव, श्री संजीव नायर की भद्र उपस्थिति में सम्पन्न हुआ।

इस केन्द्र को, उपाध्यक्ष, योजना आयोग, श्री मोन्टेक सिंह आहलुवालिया तथा माननीय पर्यावरण तथा वन मंत्री, श्री जयराम रमेश के आगमन का गौरवपूर्ण सौभाग्य भी प्राप्त हुआ । उनके आगमन ने हिमानिकी शोध की गति को ब़ाने की दिशा में सहोदर संस्थाओं के साथ सहयोग के दरवाजे खोलकर एक उत्प्रेरक का कार्य किया है ।

 
   
 
कॉपीराइट © 2019 वाडिया हिमालय भूविज्ञान संस्थान, देहरादून - उत्तराखंड (भारत). सब अधिकार सुरक्षित.