हमारे बारे में >> इतिहास     
 

इतिहास


संस्थान का ऐतिहासिक वृत्त

इस संस्थान की स्थापना दिल्ली विश्वविद्यालय के वनस्पति विज्ञान विभाग में एक छोटे से केन्द्र के रुप में हुई, अप्रैल, 1976 में इसे देहरादून में स्थानांतरित कर दिया गया।

वाडिया हिमालय भूविज्ञान संस्थान, देहरादून, विज्ञान और प्रौद्योगिकी विभाग, विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्रालय, भारत सरकार, का एक स्वायत्तशासी शोध संस्थान है।

शुरु में हिमालय भूविज्ञान संस्थान कहलाने वाले इस संस्थान का नाम, इसके संस्थापक, स्वर्गीय प्रोफे0 डी0एन0 वाडिया ;एफ0आर0एस0 तथा राष्टीय प्रोफेसरद्ध के हिमालय भूविज्ञान में किए गए योगदानों के प्रति आदर व्यक्त करते हुए उनकी स्मृति में, वाडिया हिमालय भूविज्ञान संस्थान रखा गया। पिछले पच्चीस वर्षों के दौरान यह संस्थान हिमालय भूविज्ञान के एक उत्कृष्ट केन्द्र के रुप में विकसित हो गया है तथा इसे एक अन्र्राष्ट्रीय ख्याति प्राप्त राष्ट्रीय प्रयोगशाला के रुप में मान्यता दी जा चुकी है जहां देश में उन्नत स्तर का शोध निष्पादित करने के लिए आधुनिकतम उपकरणों तथा अन्य आधारिक सुविधाओं से सुसज्जित प्रयोगशालाएं है।

 
   
 
कॉपीराइट © 2019 वाडिया हिमालय भूविज्ञान संस्थान, देहरादून - उत्तराखंड (भारत). सब अधिकार सुरक्षित.